आह कंगना.......वाह कंगना......! - DIGITAL CINEMA

Header ads


आह कंगना.......वाह कंगना......!

 


महाराष्ट्र में शिवसेना से चल रहे टकराव के बीच अभिनेत्री कंगना रनौत के द्वारा राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात किया जाना शिव सैनिकों के गले नहीं उतर रहा है। अब वो लोग कंगना के खिलाफ उग्र रूप धारण किये हुए हैं। कंगना की माँ आशा रनौत ने भी मोर्चा खोल रखा है। वैसे भी शिव सेना से झगड़े के बाद अभिनेत्री कंगना रनौत के पाली हिल(मुम्बई) वाले दफ्तर पर चले बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बी एम सी) के बुल डोजर को लेकर कंगना की माँ आशा रनौत ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुये,कंगना को प्रदान की गई सुरक्षा के सम्बन्ध में गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति अपना आभार जताया था। उसी दौरान उन्होंने इस बात कि भी आशंका जताई थी कि अगर कंगना को सुरक्षा नहीं मिलती तो न जाने क्या हो जाता। कंगना की माँ  यह भी कह चुकी हैं कि हालिया घटनाओं के बाद उनका परिवार भारतीय जनता पार्टी का समर्थन करेगा। इन सब बातों से अब कयास लगाया जा रहा है कि कंगना अब बी जे पी के तरफ मुख़ातिब होंगी। यों तो कंगना शुरू से ही सुर्खियों में रही। वैसे भी कंगना सुशांत सिंह राजपूत प्रकरण में जिस तरह कूद पड़ी थी उससे साफ जाहिर था कि उसके साथ कुछ होने वाला है। अगर फ़्लैश बैक में जायें तो देखेंगे कि बी एम सी(बृहन्मुंबई महानगरपालिका) ने कंगना के दफ्तर तोड़ने की वज़ह अवैध निर्माण बताया था। हालाँकि बी एम सी के इस के कार्रवाई के खिलाफ कंगना के वकील ने बॉम्बे हाई कोर्ट में न्याय हेतु याचिका दायर किया था। जहाँ अदालत ने दफ्तर को तोड़े जाने पर रोक लगा दी। वैसे हाई कोर्ट ने अपने पूर्व के आदेश में 30 सितंबर तक इमारतों को ढहाए जाने पर रोक लगाई थी लेकिन बी  एम सी का दलील था कि यह आदेश कंगना के दफ्तर पर लागू नहीं है।
अब कानूनी विशेषज्ञों का कहना है कि बी एम सी को अदाकारा कंगना रनौत के दफ्तर के ढहाए गए हिस्से का पुनर्निर्माण करना पड़ सकता है साथ साथ बी एम सी को हर्जाना भी देना पड़ सकता है, अगर कंगना के तरफ से साबित कर दिया जाता है कि निर्माण अवैध नहीं था।वैसे कंगना अपने मुहिम में काफी मजबूत दिखती हैं और वो बड़ी मुस्तैदी से बी एम सी की कार्रवाई को राजनीतिक बदले की कार्रवाई करार दे रही है। पिछले दिनों मौजूदा हालात को लेकर मुझे उनसे बात चीत करने का मौका मिला। प्रस्तुत है बात चीत के प्रमुख अंश :-

** इन दिनों आपको वाय प्लस श्रेणी की सुरक्षा दिये जाने को ले कर काफी सवाल उठाया जा रहा है...इस बारे में आप कुछ कहना चाहेंगी ...?

---------सबसे पहले तो आपको ये देखना होगा कि सवाल कौन उठा रहे हैं...जो  लोग मुझे तबाह करना चाह रहे हैं वो लोग ही सवाल उठा रहे हैं। मेरा दोष केवल इतना है कि मैंने न्याय के लिए मुहिम चला रखी है। यदि न्याय माँगना जुर्म है तो ये जुर्म मैं बार बार करना चाहूँगी। रही बात सुरक्षा मिलने की तो मैं मोदी जी और अमित शाह जी की आभारी हूँ कि उन्होंने सही वक्त पर निर्णय लिया। यदि मुझे सुरक्षा प्रदान नहीं की जाती तो मेरा क्या हाल होता ये आप भी अच्छी तरह से समझ सकते हैं।

** बॉलीवुड में आपके खिलाफ कुछ लोगों ने मोर्चा खोल रखा है....ऐसे में आपको डर नहीं लगता...?
--------- बिल्कुल नहीं....मैं बचपन से ही विपरीत परिस्थितियों को झेलती आई हूँ....सामने खड़ी हर तरह की समस्याओं से मुकाबला करती आई हूँ। अभी मेरा बुरा वक्त है...बुरे वक्त को मैं बुरा नहीं कहती...बुरे वक्त में इंसान को हौसला बुलंद रखना चाहिए और सामने जो भी हो उससे डट कर मुकाबला करना चाहिए।

** यह भी कहा जा रहा है कि बी जे पी अपने लिए आपको इस्तेमाल कर रही है...?
-----------ऐसा कुछ भी नहीं है। में देश हित की बात करती हूँ.....बॉलीवुड में जो नेपोटिज्म है उसकी बात करती हूँ...इंसाफ़ की बात करती हूँ....कुछ लोगों को ये बात पसंद नहीं है इसलिए मुझे डिफेम करने के ख्याल से ऐसी बातें करते हैं।मुझे राजनीति से कोई लगाव नहीं है। राजनीति तो मेरे साथ हो रही है। मेरा ऑफिस तोड़ा जा रहा है...मुझे तबाह करने के लिए साज़िशें रची जा रही हैं। मैं हार नहीं मानने वाली हूँ। हर तरह के उतार चढ़ाव को झेलने की ताक़त ऊपर वाले ने दी है मुझे...,देश की जनता मेरे मुहिम में साथ है।मैं बेखौफ़ अन्याय के खिलाफ आवाज़ उठती रहूंगी।
     
                  आत्मविश्वास से लबरेज कंगना रनौत वाकई शेरनी की तरह अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए संघर्षपथ पर अग्रसर नज़र आती हैं।आने वाले दिनों में अंजाम क्या होगा ये तो आने वाला समय ही बताएगा।

प्रस्तुति: काली दास पाण्डेय



No comments