बायोपिक फिल्म -'पीएम नरेंद्र मोदी' के रिलीज पर चुनाव आयोग ने लगाया अड़ंगा..... - DIGITAL CINEMA

Header ads


बायोपिक फिल्म -'पीएम नरेंद्र मोदी' के रिलीज पर चुनाव आयोग ने लगाया अड़ंगा.....


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर बन रही बायोपिक निर्माण के साथ ही विवादों में है. पिछले एक हफ्ते से 'पीएम नरेंद्र मोदी' की रिलीज को लेकर भारी उठापटक देखने को मिल रही है. ओमंग कुमार के डायरेक्शन में बनी यह फिल्म 11 अप्रैल को रिलीज होने वाली थी. सुप्रीम कोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बाद अब चुनाव आयोग ने फिल्म की रिलीज पर अड़ंगा लगा दिया है. मुम्बई से मिली खबरों के मुताबिक तय रिलीज डेट 11 अप्रैल को यह फिल्म प्रदर्शित नहीं हो पाएगी. बायोपिक 'पीएम नरेंद्र मोदी' में लीड रोल कर रहे विवेक ओबेरॉय काफी दुखी हैं.
इस फिल्म के रिलीज को लेकर चुनाव आयोग से भी शिकायत की गई थी. जिसके बाद विवेक ओबेरॉय और डायरेक्टर ओमंग कुमार, फिल्म के मेकर्स के साथ चुनाव आयोग में नोटिस का जवाब देने पहुंचे. उन्होंने चुनाव आयोग के सदस्यों से मिलकर उन्हें सूचित किया था कि फिल्म का भारतीय जनता पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है. फिल्म निर्माताओं के द्वारा सारी शर्तो को पूरा किये जाने के बाद भी चुनाव आयोग द्वारा इस फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दिया गया. केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सेंसर बोर्ड) के द्वारा इस फिल्म को UA प्रमाणपत्र दिया गया है.
बायोपिक 'पीएम नरेंद्र मोदी' में लीड रोल कर रहे विवेक आनंद ओबेरॉय ने बॉलीवुड सेलेब्स को जमकर लताड़ लगाई है. उनका कहना है कि सेलिब्रिटीज पीएम मोदी के साथ सेल्फी लेने के लिए तैयार रहते हैं. लेकिन उनकी बायोपिक को सपोर्ट करने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं. अभिनेता विवेक ओबेरॉय ने आगे कहा, "करीब 600 आर्टिस्ट्स साथ आकर यह अपील कर रहे हैं कि बीजेपी दोबारा सत्ता में नहीं आनी चाहिए। मैं उनका सम्मान करता हूं, उन्हें यह कहने का अधिकार है। लेकिन इनके अलावा अनुराग कश्यप जैसे लोग भी हैं, जो पंजाब इलेक्शन के वक्त आई फिल्म 'उड़ता पंजाब' को तय समय पर रिलीज कराने के लिए लड़ रहे थे और सफल भी रहे थे। मुझे इस बात की खुशी है, क्योंकि यह लोकतंत्र का संकेत है। लेकिन मेरी फिल्म के साथ जो हुआ वो अच्छा नहीं हुआ.
फिलवक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर बनी बायोपिक फिल्म-'पीएम नरेंद्र मोदी' की रिलीज पर ग्रहण लग गया है. ये फिल्म मेकर्स के लिए शुभ संकेत नहीं है.आगे क्या होगा ये तो आने वाला समय ही बतायेगा.



संवाद प्रेषक: काली दास पाण्डेय



No comments