' 22 यार्ड्स ' हर खिलाड़ी को समर्पित - सूर्या सिन्हा - DIGITAL CINEMA

Header ads


' 22 यार्ड्स ' हर खिलाड़ी को समर्पित - सूर्या सिन्हा


आज मोटिवेशनल स्पीकर के तौर पर सूर्या सिन्हा का नाम काफी जाना पहचाना है । डेढ़ सौ से अधिक देशों में जाकर वे जिंदगी के विभिन्न पहलुओं पर अपने भाषण देकर लोगों में नयी उत्साह और नया उम्मीद जागते रहे हैं । जीवन दर्शन पर सूर्या की कई किताबें प्रकाशित हो चुकी है । एक जमाने में उनका नाता बॉलीवुड से भी रहा था ।

वे फ़िल्म निर्माता और फाइनेंसर के रूप में वर्ष 1986 से 2000 तक बॉलीवुड में एक्टिव रहे । इस दौरान उन्हें कई खट्टे-मिट्ठे अनुभव हुए । चूंकि खट्टे अनुभव ज्यादा हुए थे इसलिए बॉलीवुड को अलविदा कह दिया और इन अनुभवों ने उन्हें मोटिवेशनल स्पीकर बनने के लिए प्रेरित किया ।

एक लंबे समय के बाद सूर्या सिन्हा बतौर निर्माता फिर एक बार बॉलीवुड में दाखिल हुए हैं । उन्होंने "22 यार्ड्स " का निर्माण किया है । क्रिकेट खेल में पीच की लंबाई 22 यार्ड्स होती है चूंकि यह फ़िल्म क्रिकेट पर आधारित है इसलिए इसका यह नाम रखा गया है । यह फ़िल्म खेल पत्रकार मिताली घोषाल द्वारा निर्देशित की गई है और इसमें बरुन सोबती , पंछी बोरा , राजित कपूर , मृणाल मुखर्जी , अमर्त्य रे ने अभिनय किया है । फ़िल्म के कई दृश्य कोलकाता के ईडन गार्डन में भी फिल्माया गया है । पिछले दिनों  फ़िल्म का फर्स्ट लूक जारी हुआ उसी अवसर पर पूर्व कप्तान सौरव गांगुली नज़र आये और वह फिल्म का ट्रेलर देख प्रभावित हुए ।

सूर्या सिन्हा कहते हैं कि जब कोई खिलाड़ी जीत हासिल करता है तो पूरी दुनियां को खिलाड़ी के चेहरे की रौनक व थमाई गई चमचमाती ट्रॉफ़ी नजर आती है । दुनिया इससे अनजान होती है कि यह जीत हासिल करने के लिए खिलाड़ी ने कितनी मेहनत की है । मेरी इस फ़िल्म में खिलाड़ी के साथ साथ उसके घरवालों द्वारा किए गए संघर्ष की कहानी प्रस्तुत की गई है । इसके अलावा स्पांसरों के मायाजाल को भी कहानी में बुना है इसीलिए यह फ़िल्म हर खिलाड़ी को समर्पित है ।




संतोष साहू



No comments