****श्रद्धांजलि हरफनमौला कादर खान को सलाम.......!**** - DIGITAL CINEMA

Header ads


****श्रद्धांजलि हरफनमौला कादर खान को सलाम.......!****


बॉलीवुड में अपने दमदार अभिनय और डायलॉग राइटिंग के दम पर जगह बनाने वाले कादर खान  का कनाडा में 31 दिसम्बर2018 को शाम 6 बजे निधन हो गया है। वर्ष 2019 के प्रथम दिन ही समाचार की पुष्टि हुई और पूरे बॉलीवुड में शोक की लहर फैल गई है। 81वर्षीय कादर खान के बारे में यह बात कम ही लोग जानते हैं कि उनका जन्म अफगानिस्तान के काबुल में हुआ था। उनके पिता कंधार के निवासी थे वहीं उनकी मां पाकिस्तान के पिशीन जिले की थीं, जो विभाजन से पहले भारत का हिस्सा हुआ करता था।
म्युनिसिपल स्कूल में पढ़ाई करने के बाद उन्होंने मुंबई के इस्माइल युसूफ कॉलेज में दाखिला लिया। इसके बाद उन्होंने इंस्टिट्यूशन ऑफ इंजिनियर्स से सिविल इंजिनियरिंग में डिग्री हासिल की। 1970 से 1975 तक उन्होंने एक कॉलेज में बतौर इंजिनियरिंग के प्रफेसर के रूप में भी काम किया।
            सुपर स्टार राजेश खन्ना की फिल्म-'दाग' में पहली बार बतौर एक्टर कादर खान ने काम  किया था।इस सुपर हिट फिल्म में कादर खान ने वकील का किरदार निभाया था। इसके बाद वह कई फिल्मों में सपॉर्टिंग ऐक्टर के रूप में नजर आएं।फिल्म-'बैराग'  में कादर खान को दिलीप कुमार का सानिध्य मिला।ट्रेजडी किंग दिलीप कुमार की अनुशंसा पर ही फिल्म-'जवानी दीवानी' के लिए संवाद लिखने का मौका कादर खान को मिला था।
कादर खान ने करीब 300 हिंदी  फिल्मों में अभिनय किया था। उन्होंने 250 फिल्मों के लिए डायलॉग भी लिखे थे।कादर खान ने बॉलिवुड की कई फिल्मों में विलन के रूप में भी काम किया। विलन के किरदार में पहचान पाने के बाद उन्होंने कॉमिडी में भी तक़दीर आजमाया और इसमें भी सफल रहे। 1982 से लेकर 2005 तक का पीरियड कादर खान के कैरियर का सबसे सफल समय माना जाता है।
बॉलीवुड के दमदार डायलॉग राइटर और महान एक्टर कादर खान अब हमारे बीच नहीं रहे हैं। बीती रात कनाडा में वह सुपुर्द-ए-खाक हो गये। ऐसे में कादर की जो सबसे खास चीज सिने दर्शकों के पास रह गई वो है उनकी दमदार एक्टिंग, उनकी फिल्में और उन फिल्मों में उनका कॉमेडी का निराला अंदाज। साथ ही उनके खुद के लिखे डायलॉग जिनसे उन्होंने खुद अपने फैन्स को गुदगुदाया। बता दें कि भारतीय समय के अनुसार कादर बीती रात 12 बजे दफनाए गए। वहीं, कनाडा में दोपहर के 1.30 बजे थे। ऐसे में उनको अंतिम विदाई देने उनके परिजन और रिश्तेदार उनके कुछ फैन्स वहां मौजूद थे........!



प्रस्तुति: काली दास पाण्डेय


No comments