*आमिर खान की "पीके" के बाद अब फिल्म "पीके लेले - ए सेल्स मैन" रिलीज़ के लिए तैयार* - DIGITAL CINEMA

Header ads


*आमिर खान की "पीके" के बाद अब फिल्म "पीके लेले - ए सेल्स मैन" रिलीज़ के लिए तैयार*


*निर्देशक मानव सोहल की इस कॉमेडी फिल्म में ब्रजेन्द्र काला की अहम भूमिका है_


आमिर खान के अभिनय से सजी निर्देशक राजकुमार हिरानी की फ़िल्म पीके ने बॉक्स ऑफिस के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए थे. अब इसी से मिलते जुलते एक टाइटल वाली फिल्म "पीके लेले - ए सेल्स मैन" 14 दिसम्बर को रिलीज होने जा रही है. निर्देशक मानव सोहल की इस कॉमेडी फिल्म में ब्रजेन्द्र काला की भी अहम भूमिका है, जो आमिर ख़ान की पीके में भी थे. 
इस फ़िल्म में मानव और बृजेन्द्र काला ने पीके और लेले नाम के ऐसे सेल्समैन का रोल किया है जो अंडर गारमेंट्स बेचते हैं. फ़िल्म में श्रावणी गोस्वामी मिसेज मोनिका मार्लो के रूप में हैं, जो इस फ़िल्म की हिरोइन की माँ के रोल में हैं. जबकि वैष्णवी धनराज मिस मेरी मार्लो के किरदार में हैं.
आपको बता दें कि श्रावणी गोस्वामी फ़िल्म "द जर्नी ऑफ कर्मा" में पूनम पांडेय की माँ के रोल में दिखी थीं.
उल्लेखनीय है कि बॉलीवुड के महान निर्माता निर्देशक मेहुल कुमार ने मुम्बई टाकीज़ कंपनी की हिंदी फिल्म "पीके लेले - ए सेल्स मैन" का म्यूजिक अपने हाथों से लांच किया था। आपको बता दें कि इस फ़िल्म में बृजेंद्र काला, मानव सोहल, श्रावणी गोस्वामी, वैष्णवी धनराज, फाल्गुनी रजनी, जतिन मुखी, जय शंकर त्रिपाठी और साहिबा खुराना ने काम किया है. इस फ़िल्म के लेखक और निर्दशक मानव सोहल हैं. इसके प्रोड्यूसर शैलेश गोसरानी और मानव सोहल हैं. जबकि इसके संगीतकार और गायक नायाब अली हैं. फ़िल्म का बैकग्राउण्ड म्यूजिक राजा अली ने दिया है.
इस फ़िल्म में मानव सोहल पीके का रोल कर रहे है, जबकि बृजेंद्र काला इसमे लेले की भूमिका में हैं. फ़िल्म की हिरोइन वैष्णवी धनराज टीवी पर "मधुबाला" जैसे कई शोज़ कर चुकी है, उन्होंने "वोडका डायरीज़" में भी काम किया था. 
टीवी धारावाहिकों और फिल्मो में वर्षों से अभिनय करते आ रहे मानव इस फ़िल्म के ज़रिए फ़िल्म निर्देशन के क्षेत्र में कदम रख रहे हैं. उन्होंने अपने वर्षों के अनुभव को इस फ़िल्म में इस्तेमाल किया है. उनका मानना है कि यह फ़िल्म छोटी या बड़ी नहीं होती अच्छी या बुरी होती है और उन्होंने एक अच्छी फिल्म बनाने का प्रयास किया जो दर्शको का मनोरंजन करने में सफल होगी.





*प्रस्तुति: काली दास पाण्डेय



No comments