फ़िल्मी दंगल में हरियाणवीं छोरी सुरुचि शर्मा के मायानगरी में बढ़ते कदम - DIGITAL CINEMA

Header ads


फ़िल्मी दंगल में हरियाणवीं छोरी सुरुचि शर्मा के मायानगरी में बढ़ते कदम

 


पानीपत का नाम सुनते ही हमारे ध्यान में सबसे पहले पानीपत के महायद्ध ही याद आती हैं। इतिहास में पानीपत का नाम सुनहरे अक्षरों में लिखा हुआ है, हरियाणा में स्थित पानीपत भारत की कई ऐतिहासिक लड़ाइयों का गवाह रहा है। इसके अलावा पानीपत अन्य खुबसूरत चीजों के लिए भी पुरे भारत में प्रसिद्ध है। जैसे यहाँ के पहलवान और यहाँ की अपनी बोलचाल की भाषा और वहाँ की अपनी कला , संस्कृति , इसी धरती की मिट्टी में पली बढ़ी एक हरियाणवीं लड़की सुरुचि शर्मा जो इन दिनों मुम्बई के बॉलीवुड में बड़ी तेजी के साथ अपनी जगह बना रही है। हाल ही में सान म्यूजिक के लिए उन्होंने दो म्यूजिक वीडियो में अपनी मोहक अदाकारी का जलवा बिखेरा है जिसमे से एक म्यूजिक एल्बम ” देश की बेटियाँ ” है जिसमे उन्होंने गीत के बोल पर सिर्फ एक्सप्रेशन दिया जो गीत को बोल को पर्दे पर चरितार्थ करते है। यह म्यूजिक एल्बम देश में बलात्कार से पीड़ित बेटियोँ को समर्पित किया गया है। इस म्यूजिक एल्बम के लिए गीत संजय रोकड़े ने लिखा था और संगीत एस पी सेन ने दिया है । सुरुचि शर्मा के इस सान म्यूजिक के पहले एल्बम के प्रोफॉर्मेन्स को देखते हुए सुरुचि शर्मा को दूसरे म्यूजिक वीडियो 'लूट गया मेरा प्यार' में भी मौका दिया जो काफी पसंद किया जा रहा है। आगामी प्रोजेक्ट के लिए सान म्यूजिक की कम्पनी सान मीडिया एंड एंटरटेनमेंट द्वारा सुरुचि शर्मा को अपने अन्य म्यूजिक वीडियोस और कंपनी की आने वाली बहुचर्चित फिल्म ” भगवा ” के लिए भी साईन यानी करार कर लिया गया है।

                             बचपन से ही बहुमुखी प्रतिभा की धनी सुरुचि शर्मा को फिल्मो और थियेटर में बड़ी रूचि रही है , बहुत ही काम उम्र में उन्होंने हरियाणवीं भाषा में बनने वाली लोक संगीत वीडियो में काम किया और देखते ही देखते उन्होंने कई हरियाणवीं फिल्मो में लीड रोल भी किया जैसे एक फ़िल्म 'बहू दुःखी शराबी की',  'शिरोमणि सेन', 'भक्त के बस में भगवान्' 'झटके जवानी के' आदि अन्य हरियाणवीं फिल्मो और म्यूजिक वीडियोस में काम किया और अब मायानगरी में वह अपनी क़िस्मत आज़माने आ गयी है जहा आते ही सान म्यूजिक के साथ उन्होंने काम शुरू कर दिया है। इसके अतिरिक्त सुरुचि शर्मा कुछ अन्य बड़े प्रोडक्शन हॉउस के लिए भी जल्द ही उनकी फिल्म के लिए साईन होने वाली है। कहते है न प्रतिभाएं सिर्फ़ मौके की तलाश में रहती है मुम्बई की मायानगरी ने सुरुचि शर्मा का स्वागत दोनों बाहें फैला कर किया है बस समय के शिलालेख पर एक नए कलकार के ईतिहास को लिखना है सुरुचि शर्मा का अभिनय स्मिता पाटिल , शबाना आज़मी , सुप्रिया पाठक और अन्य उन आर्ट फिल्मो की अभिनेत्रीयोँ की याद दिलाता है। मगर आज के कमर्शियल फिल्मों के निर्माण के दौड़ में सुरुचि शर्मा का कलात्मक अभिनय के साथ साथ कमर्शियल फिल्मो में भी कोई तोड़ नहीं है।

** संजय अमान



No comments