पापा कहते थे बड़ा नाम करेगी........ - DIGITAL CINEMA

Header ads


पापा कहते थे बड़ा नाम करेगी........


बॉलीवुड में बतौर पीआरओ राजू कारिया 80 के दशक के अंतिम पड़ाव से लेकर 90 के दशक और उसके बाद भी एक चर्चित शख्सियत के रूप में शिखर पर हैं और पीआरओशिप की परिभाषा को नया रूप प्रदान करने वाले फिल्म प्रचारक के रूप में उन्हें जाना जाता है। राजू कारिया ने शुरू से ही अपनी नवासी खुशी कारिया (अभिनेता स्व इंदर कुमार की पुत्री) से काफी उम्मीद लगा रखी थी। उस  उम्मीद को अमरावती पेठ इंग्लिश हाई स्कूल की कक्षा 10 की होनहार छात्रा खुशी कारिया ने गणित में 99 प्रतिशत अंक और अपने स्कूल में 91.5 प्रतिशत अंक हासिल कर शानदार सफलता अर्जित कर, पूरा किया है।
                कराटे की शौकीन खुशी कारिया अपने नाना राजू कारिया और अपने पिता अभिनेता स्व इंदर कुमार को अपना आदर्श मानती है और संघर्ष की आंच में तप कर अपनी प्रतिभा के बदौलत अपने नाना राजू कारिया के जैसा मुकाम हासिल करना चाहती है।खुशी को उसके टैलेंट के बदौलत कराटे में दो सिल्वर मैडल मिल चुके हैं। मल्टी टैलेंटेड खुशी कारिया को डांस तथा एक्टिंग का काफी शौक है लेकिन पहले वो अपनी पढ़ाई ग्रेजुएशन तक पूरा करने के बाद ही कैरियर चुनेंगी वैसे खुशी को अब तक मॉडलिंग के कई ऑफर मिल चके हैं लेकिन नाना राजू कारिया के मना करने की वज़ह से उसने कोई ऑफर स्वीकार नहीं किया। खुशी अपनी कामयाबी का श्रेय अपने नाना, नानी,अपने शिक्षक,माँ और मौसी श्रीमती धारा विराट पोपट को देती है जिसकी मदद से वो अवल्ल मुक़ाम हासिल की है।

संवाद प्रेषक: काली दास पाण्डेय

No comments