*श्रद्धांजलि नहीं रहीं गुज़रे ज़माने की चर्चित अभिनेत्री कुमकुम - DIGITAL CINEMA

Header ads


*श्रद्धांजलि नहीं रहीं गुज़रे ज़माने की चर्चित अभिनेत्री कुमकुम

गुजरे जमाने की विख्यात अभिनेत्री कुमकुम का निधन हो गया है। वो काफी समय से बीमार थीं। कुमकुम ने  पहली बार भोजपुरी फिल्म "गंगा मैया तोहे पियारी चढ़ाईबो" (1963) में भी अभिनय किया था। दरअसल कुमकुम, गुरुदत्त की खोज मानी जाती हैं। 86 वर्षीय अभिनेत्री कुमकुम ने अपने फिल्मी करियर में लगभग 115 फिल्मों में अभिनय किया। उन्हें मिस्टर एक्स इन बॉम्बे (1964), मदर इंडिया (1957), सन ऑफ इंडिया (1962), कोहिनूर (1960), उजाला, नया दौर, श्रीमान फंटूश, एक सपेरा एक लुटेरा में शानदार अभिनय के लिए जाना जाता है। वह अपने दौर के कई स्टार्स के संग काम कर चुकी थीं, जिनमें किशोर कुमार और गुरु दत्त का भी नाम शामिल है। 70 के दशक में मुंबई में लिकिंग रोड पर कभी उनके आलीशान बंगले का नाम ही कुमकुम हुआ करता था और लिंकिंग रोड की पहचान आन बान और शान के रूप में उनका बंगला जाना जाता था। बाद में उसे तोड़ कर हाउसिंग काम्प्लेक्स और मार्केट काम्प्लेक्स बना दिया गया।
22 अप्रैल 1934 को बिहार के शेखपुरा  में जन्मीं कुमकुम का असली नाम ज़ैबुनिस्सा  था। उनके पिता हुसैनाबाद के नवाब थे। फिलहाल अब वो इलाका बिहार में नहीं है झारखंड की सीमा पर अवस्थित है।

संवाद प्रेषक: काली दास पाण्डेय


No comments