लॉक डाउन खुलने का इंतज़ार है 'छैला सन्दू' को...! - DIGITAL CINEMA

Header ads


लॉक डाउन खुलने का इंतज़ार है 'छैला सन्दू' को...!


बहुचर्चित हिन्दी फिल्म ‘शूद्र-ए लव स्टोरी’ और ‘पहल’ निर्देशित कर चुके निर्देशक संजय आर. निषाद की नवीनतम भोजपुरी फिल्म- ‘छैला सन्दू-ए  ट्रायबल लव स्टोरी’ प्रदर्शन के लिए तैयार है, बस इंतज़ार है कोरोना संकट को लेकर जारी राष्ट्रव्यापी 'लॉक डाउन' खुलने का। निर्देशक संजय आर. निषाद
को इस फिल्म से काफी उम्मीद है। उनके अनुसार यह फिल्म एक खूबसूरत अटूट प्रेम की अभिव्यक्ति होगी, जो सिनेदर्शकों के लिए स्वस्थ मनोरंजन वाली होगी।
               जय श्रीकृष्णा फिल्म प्रोडूक्शन्स के बैनर तले निर्मित भोजपुरी फिल्म-‘छैला सन्दू-ए  ट्रायबल लव स्टोरी' की शूटिंग झारखण्ड प्रदेश के बेहद खूबसूरत लोकेशनों पर की गयी है। झारखंड की धरती से जुड़ी भोजपुरी फिल्म-‘छैला सन्दू-ए  ट्रायबल लव स्टोरी’ के  निर्माता  राजेन्द्र  बगड़िया,सहनिर्माता लक्ष्मी प्रसाद अग्रवाल व मुकेश सावन हैं। पटकथा लेखक मनोज कुमार शर्मा, संगीतकार उमेश मिश्रा, गीतकार मुकेश सावन, छायाकार इमरान अंसारी, नृत्य निर्देशक मयंक श्रीवास्तव व संतोष सर्वदर्शी,एक्शन डायरेक्टर सुयोग रिजाल और कला निर्देशक सतीश गिरि हैं। इस फिल्म के नायक हैं राहुल सिंह व नायिका तनुश्री हैं। अन्य मुख्य कलाकार उदय श्रीवास्तव, आनंद देव मिश्रा, गोपाल राय, माया यादव, आशा चैहान, राहुल सिंह राज, उज्जवल कुमार राॅकी, अरविन्द सावन, पंकज सिंह बिट्टू और आकांक्षा दुबे आदि हैं।
बकौल गीतकार मुकेश सावन- झारखंड की लोक कला संस्कृति को उजागर करती सच्ची घटना पर आधारित इस फिल्म का नायक (राहुल सिंह) एक  गरीब  परिवार  का  लड़का  है और बांसुरी वादक  है। नायिका (तनुश्री) नायक की बांसुरी से प्रभावित होकर उससे प्रेम करने लगती है। लेकिन दोनों का प्रेम उस इलाके में काफी चर्चित हो जाता है और एक समय ऐसा आता है कि समाज उन्हें स्वीकार करने से इंकार कर देता है लिहाजा दोनों को काफी संघर्ष करना पड़ता है।विपरीत परिस्थितियों से मुकाबला करते हुए किस तरह दोनों अपने प्यार की मंजिल पाते हैं वही इस फिल्म का मुख्य कथानक है।


प्रस्तुति : काली दास पाण्डेय



No comments